What is the full form of POK in Hindi?

 भारत को 15 अगस्त 1947 में स्वतंत्रता मिली थी स्वंतत्रता के साथ ही भारत को दो भागों में विभाजित किया गया है. भारत और पकिस्तान में जिसका दर्द आज भी भारत के लोगों को है यह बटवारा सिर्फ धर्म को लेकर हुआ था जिसमें लाखों निर्दोष लोगों की जान चली गयी थी इसके बाद वही पकिस्तान ने कश्मीर पर अचानक से हमला करके कश्मीर के एक हिस्से पर अपना कब्जा कर लिया था जिसे POK कहा जाता है.

What is the full form of POK in Hindi?

POK का फुल फॉर्म

P : Pakistan

O : Occupied

K : Kashmir

इसका हिंदी में मतलब पाक अधिकृत कश्मीर है. आज के समय में यह दोनों देशों के बीच का विवादित हिस्सा बन गया है जिसको लेकर भारत और पकिस्तान हमेशा आपस में उलझे रहते हैं और हर समय दोनों देश इस क्षेत्र पर अपना दावा पेस करते आ रहे हैं.

पीओके (PoK) का क्या मतलब है

कश्मीर के एक बडे हिस्से पर पकिस्तान का कब्जा है इस कब्जे वाले क्षेत्र का लगभग 13,300 वर्ग किलोमीटर है इस हिस्से को पकिस्तान में दो भागों में बाटा गया है आजाद - कश्मीर और गिलगित -  बाल्टिस्तान पकिस्तान के कब्जे वाले हिस्से को आजाद कश्मीर कहा जाता है यहाँ की जनसंख्या लगभग 45 लाख है भारत इस जगह को पीओके कहता है यह भारत का अभिन्न अंग है पकिस्तान इस क्षेत्र पर गलत तरीके से कब्जा किया है पीओके में ज्यादातर मक्का और गेहूं की खेती की जाती है इस क्षेत्र में उर्दू, पंजाबी, कश्मीरी आदि भाषाओं का उपयोग किया जाता है इस क्षेत्र के लोग कम पढ़े लिखे होते हैं यहाँ की साक्षरता दर 72% प्रतिशत है पकिस्तान सेना यहाँ के लोगों के साथ गलत तरीके से पैश आते थे इसलिए यहाँ के लोग भारत के साथ रहना चाहते हैं पीओके का अपना सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट है.

पकिस्तान का दावा

पीओके क्षेत्र के बारे में भारत और पकिस्तान दोनों समय- समय पर दावा करते आ रहे हैं इस क्षेत्र के लिए पकिस्तान दावा करता है कि सन् 1933 में पकिस्तान के आदेश के अनुसार मुस्लिम बहुमत के आधार पर भारत के पांच राज्यों को मिलाकर पकिस्तान की स्थापना होनी थी इस हिसाब से जम्मू कश्मीर भी एक राज्य आया था परंतु भारत इस बात को नहीं मानता है.

भारत का दावा

कश्मीर को लेकर भारत सरकार का दावा है कि 1947 स्वतंत्रता से पूर्व जम्मू कश्मीर भारत का ही एक अंग था जिसको पकिस्तान ने अवैध तरीके से अपने कब्जे में कर लिया था.

तनाव का मुख्य कारण

भारत और पकिस्तान दोनों देशों में अन्य देशों के हिसाब से सबसे ज्यादा तनाव बना रहता है और आये दिन पकिस्तान सभी नियमों का पालन नहीं करता है बहुत सारे लोग अपने देश के लिए पीओके की सीमा पर शहीद हो गयें है जिसका मुख्य कारण पीओके ही है कयोंकि पकिस्तान हमेशा भारत के अधिकृत कश्मीर की मांग करता रहा है लेकिन भारत पकिस्तान को जम्मू कश्मीर के जमीन का एक इंच भी देने को तैयार नहीं रहता है इसी कारण पाकिस्तान से हमेशा नियमों का उल्लंघन करके गोलीबारी आदि होती रहती है और इस सीमा पर हमेशा ही तनावपूर्ण स्थिति बनी रहती है यहाँ शांति बने रहे इसलिए इस क्षेत्र के लिए कई बैठक भी किया गया पर इससे कोई समाधान नहीं हुआ है अभी तक

संयुक्त राज्य संघ का दखल

भारत के जवानों ने अपनी पूरी हिम्मत और वीरता के साथ पकिस्तानी सेना का सामना किया और जब भारतीय सेना पकिस्तानी सेना को जम्मू कश्मीर से खदेड़ने वाले ही थी तभी उसी समय सयुंक्त राज्य संघ ने इस लड़ाई में अपना हस्तक्षेप किया और उनके हस्तक्षेप के बाद दोनों देशों की लड़ाई पर विराम लग गया यह लड़ाई रूकते तम जम्मू कश्मीर का आधे से ज्यादा हिस्सा पकिस्तान ने अपने कब्जे में कर लिया था

पीओके से जुड़ी कुछ मुख्य बातें

  1. पीओके भारत के जम्मू कश्मीर का एक हिस्सा है जिस पर पकिस्तान देश ने सन् 1947 में कबीलाई विद्रोहियों के साथ मिलकर अपना अधिकार इस हिस्से पर जमा लिया था इसके बाद पकिस्तान देश ने इस हिस्से को दो भागों में बाट दिया था आजाद – कश्मीर, गिलगित – बाल्टिस्तान
  2. पीओके को भारत सरकार अपना वह हिस्सा मानता है जिस पर पकिस्तान ने सन् 1947 में धोखे से हमला करके इस पर अपना कब्जा कर लिया था
  3. आप पकिस्तान देश के अधिकृत कश्मीर पीओके के हिस्से को हटा कर देखोगे तो यह लगभग 13,300 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है और भारत के कश्मीर से यह लगभग 3 गुना अधिक बड़ा है
  4. पीओके आजाद कश्मीर के लोग अपना जीवन यापन के लिए अधिकतर खेती करते हैं जैसे – गेहूं , मक्का, वनिकी , पशुपालन आदि शामिल साधन है.

Post a Comment

0 Comments

Close Menu