Www का अविष्कार किसने किया व इसका पूरा नाम क्या हैं? WWW Ka Avishkar Kisne Kiya?

आज के इस डिजिटल युग मे जितना उपयोग हम www का करते हैं उतना शायद अन्य किसी विषय का नही। एक समय था जब किसी वेबसाइट व अन्य प्लेटफार्म के बारे मे लोगो को जानकारी की जरूरत नही हुआ करती थी। व अत्यधिक काम पेपर वर्क के माध्यम से होता था। परंतु जैसे जैसे तकनीकी बढ़ी हैं और व्यवसाय से लेकर हर क्षेत्र पूर्ण रूप से digitalization में रूपांतरित हुआ हैं वेबसाइट का अपना अहम योगदान हैं। अथवा किसी भी वेबसाइट को रन करने व सर्च करने के लिए वेब एड्रेस www की आवश्यकता होती हैं।

Www का अविष्कार किसने किया व इसका पूरा नाम क्या हैं? WWW Ka Avishkar Kisne Kiya?



आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको यही बताएंगे कि www का अविष्कार किसने ओर कब किया। व इसको कैसे रन किया जाता हैं।

Internet के माध्यम से आज हम कहि भी किसी भी समय कुछ भी जानकारी हासिल कर सकते हैं इसके पीछे वेबसाइट का अपना बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान हैं। परंतु किसी भी वेबसाइट को browser में ओपन करने से पहले उसके वेब url से पहले www जरूर डालना पड़ता हैं जो सीधे वेबसाइट को ओपन करने में मददगार होता हैं। तो चलये बिना देरी किये शरू करते हैं आज के इस आर्टिकल को जिसके माध्यम से हम आपको www से सम्बंधित सभी जानकारी देनी की कोशिश करेंगे।


Www का अविष्कार किसने किया इसका पूरा नाम क्या हैं?

Www का फुल्लफॉर्म World wide web हैं। जिसके अंतर्गत सम्पूर्ण विश्व की वेबसाइट का डेटा स्टोर हैं। किसी भी वेबसाइट को ओपन करने के लिए www browser में पेस्ट करना बहुत ही आवयश्क हैं। Internet से जुड़ी हर एक वेबसाइट वेबपेज में उपलब्ध होती हैं जिसके फलस्वरूप हम किसी भी वेबसाइट को ओपन कर उसमें उपस्थित जानकारी को एनालिसिस कर सके।

इंटरनेट पर मौजूद कंटेंट को निम्न दो वर्गों में विभाजित किया गया हैं HTML ओर http जिसे हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल बोलते हैं। इंटरनेट से जुड़ी अनेको वेबसाइट में https:// से वेबसाइट के लिंक को फील किया जाता हैं वही कुछ वेबसाइट्स में url www से अंकित किया जाता हैं।

अब बात करते हैं कि आखिर www का अविष्कार किसने ओर कब किया हैं तो www का अविष्कार ब्रिटिश के एक प्रमुख वैज्ञानिक Tim Berners-Lee के नेतृत्व में हुआ। हालांकि, इस अविष्कार में उनके साथ एक सहायक भी थे जिनका नाम Robert Cailliau भी शामिल थे। 1994 में पूर्ण रूप से website को प्रयोग में लाने से पहले उन्होंने CERN जो की स्विट्जरलैंड में नाभकीय अनुसंधान शिक्षण संस्थान में कार्यरत थे।


www वेबसाईट की दिशा मे क्या योगदान हैं?

आज के इस समय मे हमारे पास वेबसाइट का इतना बड़ा जाल फेल गया हैं जिसके अंतर्गत हम हर क्षेत्र से जुड़ी जानकारी हासिल कर सकते हैं। वेबसाइट के माध्यम से आज एक स्थान पर बैठे किसी भी क्षेत्र की खबर व उसके द्वारा किया जा रहे कार्यो का डेटा आसानी से हासिल किया जा सकता हैं।

IT वर्लड की इस महत्वपूर्ण खोज ने आज समूर्ण विश्व को एक चैन में बांधे हुआ हैं। बड़े बड़े सॉफ्टवेयर developers की मदद से हम आज वेबसाइट को मॉनिटरिंग कर पाते हैं।

जितना महत्वपूर्ण विषय वेबसाइट का हैं उतना ही इंटरनेट का भी हैं। प्रत्येक वेब पेज के url से सम्बंधित सटीक जानकारी व वेबसाइट्स की सेक्युरिटी को ध्यान में रखते हुए वेबसाइट को इस तरिके से संसोधित किया जाता हैं कि अन्य किसी साइबर क्राइम के तहत वेबसाइट को कोई हैक न कर सके।

Www किसी भी वेबसाइट को शरू करने या access करने का प्रथम स्टेप हैं।

Www की शरुआत कहाँ से हुई सबसे पहली वेबसाइट का क्या नाम हैं?


जैसा कि ऊपर बताया गया हैं कि www का अविष्कार बैनर्स ली के नेतृत्व में हुआ, तथा उनके ही अनुसार सर्वप्रथम वेबसाइट का निर्माण हुआ जिसका नाम https//info.cern.ch हैं। cern उनके संस्थान से लिया गया हैं जहाँ वो अपना अध्यन सम्पन्न करने के बाद एक फेलो इंटर्न के पद पर कार्यरत थे। उन्होंने वहां उपस्थित प्रयोगशाला में सभी कंप्यूटर्स के डेटा को मैनेज कर एक सही कर्म से सेट किया। जिसके की अन्य विषयों व क्षेत्रो की जानकारी प्राप्त करने में ज्यादा मुश्किल न उठानी पड़े। इसीलिए ली ने एक क्रमबद्ध तरिके से डेटा को व्यवस्थित किया।

अथवा इस कार्य प्रणाली को ओर भी सरल बनाने व सम्पूर्ण डेटा को एक जगह सुसज्जित करने के लिए उन्होंने विचार विमर्श करना शुरु किया जिससे की वो कुछ ऐसा माध्यम बन सके जिसमे सारा डेटा समा सके।

बहुत ही गहरे शोध व अध्यन के बाद जाकर उन्होंने वेबसाइट डेवलोपमेन्ट की मदद से वेब का निर्माण किया।

जिसके बाद उन्होंने विश्व की सबसे पहली वेबसाइट का निर्माण कर सम्पूर्ण जगत के सामने इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी की नींव को और भी मजबूत करने के लिए वेबसाइट का निर्माण किया।

तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हमने जाना कि www का अविष्कार किसने ओर कब किया। www का अविष्कार आज की डिजिटल क्रांति का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा हैं जिसके फलस्वरूप हम बड़ी से बड़ी कंपनी के डेटा को एक जगह व्यवस्थित कर सकते हैं। तो आशा करते हैं आज के इस कथन के माध्यम से आपको www के बारे में पर्याप्त जानकारी प्राप्त हुई होगी।