UPI का क्या फुल्लफॉर्म होता हैं? UPI Full Form In Hindi?

आज के इस डिजिटल युग मे कोन व्यक्ति UPI के बारे में नही जानता। दैनिक जीवन मे खरीदी जाने वाली अत्यधिक सामग्री का भुगतान हम ऑनलाइन ट्रांसक्शन से करते हैं। ऐसे सभी ट्रांसक्शन को करने के लिए UPI की आवश्यकता होती हैं। एक समय था, जब online pay जैसा कुछ भी नही था। और सभी को कुछ भी खरीददारी करने के लिए साथ मे पैसे रखने होते हैं। परंतु आज के समय मे ये सब पूर्ण रूप से बदल गया हैं। अथार्त छोटे से लेकर बड़े ट्रांसक्शन के लिए हैं ऑनलाइन पेमेंट करते हैं।

UPI का क्या फुल्लफॉर्म होता हैं? UPI Full Form In Hindi?

आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम ऑनलाइन ट्रांसक्शन में प्रयोग होनी वाली UPI पद्दति के बारे में चर्चा करेंगे। तो बिना समय को व्यर्थ करते हुए शरू करते हैं आज के इस आर्टिकल को।


UPI का क्या फुल्लफॉर्म होता हैं?

UPI का पूरा नाम Unified Payments Interface होता हैं जो सभी ऑनलाइन ट्रांसक्शन को करने के लिए प्रमुख बिंदु हैं। किसी भी प्रकार के लेनदेन के लिए सर्वाधिक उपयोग होना वाला माध्यम नेट बैंकिंग में UPI की अपनी अहम भूमिका हैं। आज के रोजमर्रा के जीवन मे पैसों का लेनदेन कोन नही करता। परंतु सभी के पास इतना समय नही हैं कि वो हर एक लेनदेन के लिए बैंको की लंबी कतार में समय व्यतीत करे। UPI के माध्यम दे लेनदेन करना इतना सरल हैं कि आप बहुत कम समय मे अपने खाते से दूसरे के खाते में धनराशि जमा कर सकते हैं।

UPI से किन किन क्षेत्र में पेमेंट कर सकते हैं?

नोटबन्दी के बाद कैशलेस प्रणाली को चालू करने के बाद शायद ही ऐसा कोई क्षेत्र होगा जहाँ पर UPI के माध्यम से पेमेंट न की जा सके। जी हाँ, अपनी व्यक्तिगत UPI ID से आप कही भी ओर किसी भी समय भुगतान कर सकते हैं। कुछ प्रमुख स्थान जहाँ पर आप UPI के तहत भुगतान कर सकते हैं वो इस प्रकार हैं।

  • Uber व Ola टैक्सी ड्राइवर को
  • Flight की tickets में।
  • DTH रिचार्ज से लेकर मोबाइल के पोस्ट पेड व प्रीपेड में।
  • शॉप्पिंग से लेकर रेस्टोरेंट में।
  • UTS Indian Railway सेवा का इस्तेमाल करने में।

UPI ID कैसे create करे।

कैशलेस स्कीम को चुनने के लिए अत्यधिक लोग ऑनलाइन लेनदेन को चुनते हैं। परंतु विषय यह हैं कि UPI virtual ID कैसे बनाये। तो UPI id generate करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना होता हैं।

  1. कस्टमर का किसी भी बैंक में खाता होना अनिवार्य हैं।
  2. कस्टमर का बैंक में व्यक्तिगत मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होना अनिवार्य हैं।
  3. खाते में न्यूतम धनराशि 1₹ होना अनिवार्य हैं।
  4. UPI id generate करते समय इंटरनेट कनेक्शन बेहतर हो जिससे कि OTP प्राप्त हो सके।

ये कुछ महत्वपूर्ण बातें हैं जिनका UPI ID बनाते समय ध्यान रखना चाहिए। इसके अलावा यूनवर्सल BHIM UPI ID को क्रीऐट करने के लिए अलग से विकल्प हैं। इसकी सहायता से आप कोई सी भी अनलाइन पेमेंट प्रणाली वो चाहे phone pay हो या google pay आसानी से कर सकते हैं।

UPI के द्वारा पेमेंट कैसे करे?

UPI के द्वारा पेमेंट करना बहुत ही सरल हैं इसके लिए सबसे पहले ऑनलाइन पेमेंट अप्प को ओपन कर एक यूनीक कोड को स्कैन कर सकते हैं। या pay करने वाले कि upi id पर भी डायरेक्ट पेमेंट कर सकते हैं।

ऑनलाइन ट्रांसक्शन करते समय सबसे महत्वपूर्ण बात यह हैं कि upi पिन को किसी अन्य व्यक्ति के साथ शेयर न करे।

UPI पेमेंट के अंतर्गत ट्रांसक्शन करने के लिए या तो सीधे upi id से या फिर खातेधारक की बेनेफिशरी डिटेल्स से भी पेमेंट कर सकते हैं।


UPI Net Banking में क्या अंतर हैं?

UPI व Net Banking में ज्यादा समानता नही हैं परंतु दोनों ऑनलाइन ट्रांसक्शन के लिए अलग अलग क्राइटेरिया हैं। UPI व Net Banking में क्या अंतर हैं वो इस प्रकार से हैं

UPI ट्रांसक्शन करने में बैंकिंग डिटेल्स फील करने की कोई आवश्यकता नही होती। जबकि नेट बैंकिंग में बेनेफिशरी डिटेल्स भरना अनिवार्य होता हैं।

UPI एक तेज़ ऑनलाइन ट्रांसक्शन प्रणाली हैं। जबकि नेट बैंकिंग में 3 से 4 घण्टे का समय लगता हैं।

UPI में ट्रांसक्शन लिमिट 1 लाख रुपये तक होती हैं। जबकि नेट बैंकिंग में कोई लिमिट नही होती।

UPI कोड कितने अंको का होता हैं?

UPI ट्रांसक्शन करने के लिए एक यूनिक कोड की जरूरत पड़ती हैं। जिस तरह हम ATM से लेनदेन करते समय एक चार अंको का पिन डालते हैं।ठीक उसी तरह UPI से ट्रांसक्शन करते समय भी एक यूनिक कोड की आवश्यकता होती हैं यह पिन चार अंको से 6 अंको तक का होता हैं। UPI यूनिक कोड से खाते से सम्बंधित प्रत्येक जानकारी को सुरक्षा ने रखा जाता हैं ताकि किसी फ्रॉड या अन्य साइबर क्राइम के अंतर्गत कोई धनराशि न निकाल सके।

तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हमने जाना कि UPI क्या होता हैं व इसकी क्या फुल्लफॉर्म होती हैं।आशा करते हैं कि UPI के बारे में आपको पर्याप्त जानकारी प्राप्त हुई होगी।