Telephone ka Avishkar Kisne kiya. Telephone का अविष्कार किसने ओर कब किया?

एक समय था, जब हमारे पास दूरभाष के बेहतर संसाधन नही थे। पत्र व कबूतर के माध्यम से एक स्थान से दूसरे स्थान तक सन्देश आदान प्रदान किये जाते थे। परंतु नवीन युग के खोज के साथ साथ दूरभाष को सरल बनाने के लिए एक ऐसे यन्त्र की खोज हुई जिससे कोई भी व्यक्ति एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्तिथ व्यक्ति से वार्तालाप कर सके। दूरभाष संसाधन की दुनिया की ये सबसे महत्वपूर्ण खोज मानी जाती हैं।

Telephone ka Avishkar Kisne kiya

आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम ऐसे ही प्रमुख यन्त्र टेलीफोन के आविष्कार के बारे में चर्चा करेंगे। हालांकि, 21वी सदी के इस नये युग मे दूरभाष यंत्रो की कमी नही हैं। आज हमारे पास टेलीफोन से अलग अनेको साधन हैं जिनकी मदद से चंद मिनटों में विश्व के किसी भी कोने में उपस्थित व्यक्ति से बात कर सकते हैं।


Telephone का अविष्कार किसने ओर कब किया?

Telephone दूरसंचार यन्त्र का अविष्कार अमेरिकी अविष्कारक एलेग्जेंडर ग्राहम बेल "Alexander Graham Bell" ने सन 1876,10 मार्च को किया। इस यंत्र के माध्यम से एक या एक से अधिक व्यक्तियों के बीच वार्तालाप करना बहुत ही सरल था।

दूरसंचार के संसाधनों में त्रुटि होने के कारण, दूरभाष का कोई प्रमुख साधन नही था, ओर इसके चलते लोगो को बहुत ही समस्या का सामना करना होता था। सर ग्राहम बेल ने इस समस्या का पूर्ण रूप से निवारण कर विश्व को एक ऐसे यन्त्र की खोज करके दी जिससे कोई भी एक स्थान से दूसरे स्थान पर आसानी से बात कर सकता था। टेलीफोन की खोज करने की इस अनोखी यात्रा में ग्राहम बेल के साथ उनके ही निजी साथी की भी महत्वूवर्ण भागीदारी रही। जिनका नाम वाटसन था। अथार्त बताया जाता हैं कि टेलीफोन के सफल परीक्षण के बाद ग्राहम बेल ने पहला टेलीफोन वाटसन को किया जिसने उन्होंने अपने शब्दों को कुछ इस प्रकार सम्भोदित किया -

"Mr.Watson come here I want you.

Also Read: NCC की क्या फुलफोर्म हैं? NCC Full Form?


Telephone का दूरभाष के क्षेत्र में क्या योगदान हैं?

Telephone का दूरभाष के क्षेत्र में अपना अलग ही योगदान रहा हैं। दूरसंचार के संसाधनों में ये अब तक का सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार माना जाता हैं। टेलीफोन की मदद से ने केवल हम एक स्थान से दूसरे स्थान पर वार्तालाप कर सकते हैं, बल्कि किसी भी आपातकालीन परिस्थिति में सन्देश भेज सकते हैं। आज से कुछ दशको पूर्व जब telephone की खोज नही हुई थी, डाक पार्सल व पत्र के माध्यम से सन्देश जाया करते थे, जिसमे अधिक समय लगता था। परंतु ग्राहम बेल की इस दुर्लभ खोज ने दूरभाष जगत को ऐसे यन्त्र की खोज करके दी जिससे आज कोई भी व्यक्ति सम्पूर्ण विश्व मे बात कर सकता हैं।

Telephone के आविष्कार के दौरान किन किन परिस्थितियों से गुजरना पड़ा ?  

Telephone के आविष्कार के समय ग्राहम बेल को बहुत सारी चुनोतियों से गुजरना पड़ा हैं। उस समय टेलीग्राफ की अपनी एक अलग प्राथमिकता थी, ओर दूरसंचार के विषय मे टेलीग्राफ कंपनियों का बोल बाला था। इसी के चलते जब ग्राहम बेल ने अपने द्वारा आविष्कार किये गए यंत्र telephone को विश्व के समक्ष प्रस्तुत करने की बात की तो इस पर टेलीग्राफ कंपनियों का रुख सही दिशा में नही रहा। उन्हें कही न कही ये भय था कि टेलीफोन का आविष्कार उन्हें पीछा न छोड़ दे।

परंतु ग्राहम बेल न बिल्कुल भी हार नही मानी और उन्होंने इसके सफल परीक्षण के लिए अपने साथी वाटसन के साथ निरन्तरं प्रयोगशाला में अभ्यास किया।

इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में उपयोग होने वाला सबसे महत्वपूर्ण गैजेट ट्रांजिस्टर का आविष्कार भी ग्राहम बेल की प्रयोगशाला में ही हुआ था। कड़ी मेहनत व लग्न के साथ ग्राहम बेल ने अपने सहयोगी वाटसन के साथ अपनी निजी टेलीफोन कंपनी आरम्भ करने का निर्णय लिया।

ओर विश्वभर में telephone के आविष्कार को प्रदर्शित कर एक नवीन यन्त्र प्रदान किया।

Also Read: BA का फुल्लफॉर्म क्या हैं? BA Full Form?


Telephone के आविष्कार से आज के युग पर क्या प्रभाव पड़ा?

इसमे तनिक भी शंका की बात नही हैं, कि आज के इस डिजिटल युग मे दूरभाष के संसाधनों की कमी हैं। आज हमारे पास अनेको ऐसे दूरसंचार के माध्यम हैं जिनकी मदद से हम कहि भी किसी भी समय सन्देश का आदान प्रदान कर सकते हैं तथा जिस किसी से चाहे बात कर सकते हैं।

आज के कुछ दूरसंचार के प्रमुख उपकरणों की सूची इस प्रकार नीचे दी गयी हैं।

  • E mail
  • Fax
  • Whatsapp
  • Twitter
  • Facebook

हालांकि, ये सभी दूसरी पदत्ति में उपयोग होने वाले विकल्प हैं परंतु इन सभी का आविष्कार दूरसंचार के लिए ही हुआ हैं। दूरसंचार जगत के सबसे महत्वपूर्ण व निर्णायक अविष्कार की गिनती में telephone का स्थान सबसे उच्च स्तर पर हैं। इसके बाद जैसे जैसे तकनीकी क्षेत्र आगे बढ़ता गया ठीक वैसे ही नए नए उपकरणों की खोज होती चली गयी। और आज हम ऐसे हज़ारो दूरसंचार के उपकरणों से घिरे हुए हैं। तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हमने जाना कि telephone के आविष्कारक कोन थे, व इसकी स्थापना कब हुई।