पीएचडी क्या हैं व इसकी क्या फुलफोरम हैं? Phd full form in hindi?

PHD जिसके बारे मे शायद ही कोई न जानता हो,अध्यन प्रणाली की सबसे सर्वोतम मे डिग्री मे से एक होती हैं। हमारे आस पास ऐसे बहुत से पढे लिखे लोग हैं, जिनके नाम के आगे डॉक्टर लगा होता हैं। जबकि उन्होंने कोई मेडिकल डिग्री या mbbs भी न की हो। जी हा, PHD एक शिक्षा का ऐसा पाठ्यक्रम हैं। जिसके सम्पन्न होने पर अभ्यर्थी को डॉक्टर का दर्जा मिलता हैं। हालांकि, PHD करना इतना सरल नहीं हैं जितना सरल इसका नाम हैं। इसके लिए कड़ी मेहनत व लग्न की आवश्यकता होती हैं।

पीएचडी क्या हैं व इसकी क्या फुलफोरम हैं? Phd full form in hindi?

जिन विद्यार्थियों का शरुआत से ही प्रोफेसर या रिसर्च मे रुचि होती हैं। उनके लिए PHD सबसे महत्वपूर्ण पाठ्यक्रमों मे से के माना जाता हैं। हालांकि, PHD करने के बाद एक अलग ही पद व प्रतिष्ठा से सम्मानित किया जाता हैं। जो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताएंगे की PHD की क्या फुलफोरम होती हैं व इसके लिए किस प्रकार से तयारी करनी चाहिए। तो बिना देरी किए शरू करते हैं आज के इस आर्टिकल को जिसमे हम आपको PHD से जुड़ी सारी महत्वपूर्ण जानकारी देने की कोशिश करेंगे।


PHD क्या हैं इसकी क्या फुलफोरम हैं?

PHD को एक doctorate डिग्री के रूप मे जाना जाता हैं जिसको कम्प्लीट करने मे लगभग 4 से 6 वर्ष का समय लगता हैं। इसके अलावा PHD की समय सीमा उसके पाठ्यक्रम पर आधारित होती हैं PHD का पूरा नाम Doctor of Philosophy होता हैं। PHD के अंतर्गत विभिन पाठ्यक्रम होते हैं अथवा यूनिवर्सिटी के अंतर्गत भी समय सीमा भिन्न होती हैं। PHD को अध्यन प्रणाली मे सबसे सर्वोतम स्थान दिया गया हैं। इसको सम्पन करने के उपरांत PHD करने वाला अभ्यर्थी उस विशेष विषय का ज्ञाता बन जाता हैं जिसके अंतर्गत उसको सभी जानकारी विस्तारित रूप से प्राप्त होती हैं। PHD करने के बाद किसी भी यूनिवर्सिटी व बड़े विधालय मे नियुक्त होना आसान हो जाता हैं।

स्कूल समय से  जो विद्यार्थी शिक्षक बनने का उद्देश्य लेके चलते हैं या जिन्हे किसी एक विषय मे रिसर्च करनी होती हैं। उनके लिए PHD से बेहतर माध्यम कुछ नहीं होता। परंतु PHD करना इतना सरल नहीं हैं।

12 वी करने के बाद स्नातक करना व उसके तद्पश्चात मास्टर डिग्री कर PHD के लिए एन्ट्रन्स देकर किसी एक निर्धारित विषय को चुना जाता हैं।

PHD करने के लिए योग्यता का क्या स्तर होना आवश्यक हैं?

जिन विद्यार्थियों का सपना PHD की डिग्री लेना होता हैं उनके लिए PHD की योग्यता के बारे मे सही से जानकारी लेना बहुत ही आवश्यक हैं। PHD करने के लिए निम्न योग्यता का स्तर इस प्रकार से हैं।

  • PHD करने के लिए मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक होना अनिवार्य हैं।
  • स्नातक के साथ साथ किसी एक विषय मे स्नातकोत्तर मे न्यूटम 55 प्रतिशत अंक होना भी अनिवार्य हैं ।
  • इसके अतिरिक्त PHD के लिए एन्ट्रन्स इग्ज़ैम देकर भी प्रवेश ले सकते हैं।
  • एन्ट्रन्स इग्ज़ैम नेट की सहायता से दिया जा सकता हैं ।

निजी संस्थानों से PHD करने मे ज्यादा खर्च आता हैं  जिसके चलते कुछ ही लोग प्राइवेट universities से PHD करना उचित समझते हैं ।


PHD मे फीस का क्या criteria हैं ?

PHD जो की एक डाक्टरिट डिग्री मे सबसे बेहतर डिग्री मानी जाती हैं इसके अंतर्गत फीस के बारे मे जानकारी हासिल करना भी एक प्रमुख बिन्दु हैं तो PHD मे कितनी फीस होती हैं  इसकी विस्तृत जानकारी नीचे दी गई हैं ।

colleges व पाठ्यक्रम के अनुसार PHD की फीस निर्धारित होती हैं प्रत्येक यूनिवर्सिटी का अपना अलग फीस structure होता हैं।

PHD के अंतर्गत सामान्यतः फीस 20,000 से लेकर 25,000 प्रति वर्ष तक होती हैं। इसके अलावा IIT जैसे शिक्षण संस्थानों से PHD करने मे फीस का criteria अलग होता हैं।

PHD का रोजगार की दिशा मे क्या योगदान हैं?

PHD जो अपने आप मे एक बहुत बड़ी उपलब्धि मानी जाती हैं। इसके कम्प्लीट होने पर रोजगार के अनेकों विकल्प हैं। बड़े बड़े शिक्षण संस्थानों से लेकर सरकारी colleges मे proffesor के पद हेतु भी आवेदन किया जा सकता हैं। इसके अलावा जो लोग IIT जैसे संस्थानों से PHD करते हैं  उनके लिए सालाना सैलरी पैकेज बहुत अधिक होता हैं  जो अन्य नौकरियों के मुकाबले कही अधिक होता हैं। इसीलिए PHD के पाठ्यक्रमों को विभिन खंडों मे विभाजित किया गया हैं। PHD करने के लिए syllabus का विस्तारित किया गया हैं। इसके अंतर्गत आने वाले कुछ महत्वपूर्ण पाठ्यक्रम व विषय इस प्रकार से हैं।


PHD के अंतर्गत आने वाले पाठ्यक्रम की सूची

  1. PHD इन लिटरचर
  2. PHD इन ईकनामिक्स
  3. PHD इन जीआग्रफी
  4. PHD इन psychology
  5. PHD इन इंग्लिश

इसके अलावा विज्ञान के क्षेत्र मे PHD के पाठ्यक्रमों को अलग से विभाजित किया गया हैं। उन्मे से कुछ इस प्रकार से हैं।

  • PHD इन मैथमैटिक्स
  • PHD इन फिज़िक्स
  • PHD इन बेसिक एण्ड अप्लाइड साइंस
  • PHD इन ज़ोआलजी

तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हमने जाना की PHD की क्या फुलफोरम होती हैं  व इसका अध्यन प्रणाली मे किस तरह से योगदान हैं।